स्वतंत्रता दिवस पर शायरी – स्वतंत्रता दिवस भारत गणराज्य का राष्ट्रीय दिवस है। 15 अगस्त, 1947 को, भारत ने ब्रिटिश साम्राज्य के शासन से स्वतंत्रता प्राप्त की। इस घटना को यादगार रखने के लिए, हर साल 15 अगस्त को इसे भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेतृत्व में लंबे समय तक स्वतंत्रता संग्राम के बाद भारत ने हिंसक, असहयोग और नागरिक अवज्ञा आंदोलन और विभिन्न चरमपंथी गुप्त राजनीतिक समाजों के हिंसक आंदोलन के रास्ते पर आजादी हासिल की। ​​15 अगस्त 1947 को प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने दिल्ली में लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज उठाया। प्रत्येक आगामी स्वतंत्रता दिवस पर, प्रधान मंत्री मोटे तौर पर ध्वज उठाते हैं और देश को एक पता देते हैं।

नीचे से सर्वश्रेष्ठ देशभक्ति और स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, कविता 2018 पढ़ें.

Also Read-

Maa Shayari For Mother’s Day
Raksha Bandhan Status & Shayari

स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, 15 अगस्त की शायरी-

स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, 15 अगस्त की शायरी
स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, 15 अगस्त की शायरी
  • छोड़ो कल की बातें,
    कल की बात पुरानी
    नए दौर में लिखेंगे
    मिल कर नयी कहानी
    Hum Hindustani
  • Ek baat hawa o ko batake rakhana,
    roshanee hogee chiraago ko jaalake rakhana,
    laahu dekar jiskee hiphaajat hamane kee …
    aise ‘Tiranga’ ko sada dil mai basay raakhana ….
  • आओ झुकके सलाम करे उनको जिनके,
    हिस्से में ये मुकाम आता है,
    खुशनसीब होता है वो खून,
    जो देश के काम आता है.
  • Aao desh ka hamesh samman kare,
    shaahido kee shaahadat yaad kar,
    ek baar phir se raashtra kee kaamaan ..
    ham ‘hindustani’ apane haath dhaare ..
    aao .. indepence day ko maan kare.
  • आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
    सहिदों की क़ुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे,
    बची हो जो एक बून्द भी गरम लोहा की..
    तब तक bharat माता का आँचल नीलाम होने नहीं देंगे..
  • Mere desh mai kala gore logo ka bhed nahin
    har ek ko dil se pyaar karna hamaara ata hai
    kuchh hame aaye ya na aaye
    lekin doston ka pyaar nibhaana jaroor aata hai.
    ham hai hindustaani aur india hamaaree jaan hai…
  • हक़ मिलता नहीं लिया जाता है,
    आज़ादी मिलती नहीं चीनी जाती है,
    नमन उन् देश प्रेमियों को,
    जो देश की आज़ादी के लिए जाने जाते हैं.
  • Naa puchho jamaane ko,
    kya hamaare kahaani ha,
    hamaare to sirf yeh pahachaan hai,
    ki ham sirf ‘Hindustani’ hai…!!
    Bharat Mata Ki Jai!!!!!
  • छड़ गए जो हसकर सूली..
    खाई जिन्होंने साइन पैर गोली..
    हम उनको परनाम करते हैं,
    जो मीतगए देख पैर..
    हम उनको सलाम करते हैं.
  • Watan hamara aise na chhor paaye koi,
    rishta hamara aise na tod pae koee,
    dil hamaare ek hai, ek hai hamaaree jaan,
    ‘Hindustan’ hamaara hai, ham hai iskee shaan.
  • कुछ नशा ‘TIRANGE’ की आएं का है.
    कुछ नशा ‘MATRBHUMI’ की शान का है.
    हम लहरायेंगे हर जगह ये ‘TIRANGA’
    नशा ये ‘HINDUSTAN’ की शान का है..
    Jai ho..
  • Mera “hindustan” mahan tha,
    mahan hai aur mahan rahega,
    hoga haussla sab ka dilo mein buland
    to ek din paak bhee jay hind kahega.
  • ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई,
    मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
    सोने के कफ़न में लिपट मरे शाशक कई,
    मगर Tirange से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता.
  • Naa sar jhukaya kavi
    aur na jhukayenge Kavi,
    joo apne dum par jiyenge
    sach mein zindagi wahi hai. (15 अगस्त की शायरी)
    Live like a true INDIAN.
  • दे सलामी इस Tirange को
    जिससे तेरी शान हैं.
    सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
    जब तक दिल में जान हैं..!!
  • Main mohan bhaarat ka haradam amit sammaan karata hoon
    yahaan ki chandanee mittee ka hee gunagaan kar raha hoon,
    mujhe chinta nahin hai swarg jaakar moksh paane kee,
    ‘Tiranga’ ho kaphan mera, bas yahee armaan rakhata hoon.
  • नहीं सिर्फ जश्न मानना,
    नहीं सिर्फ झंडे लहराना,यह काफी नहीं है वतन परस्ती,
    यादों को नहीं भूलना,
    जो क़ुर्बान हुए,
    उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
    खुदा के लिए नहीं..
    ज़िन्दगी वतन क लिए निभाना..
  • Sanskaar aur sanskrti kee shaan mile aise,
    hindoo muslim aur hindustaan mile aise,
    ham milajul ke rahane vaale kee,
    mandir mein allaah aur masjid mein raam mila jaise. (स्वतंत्रता दिवस पर शायरी)

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर कविता/ देशभक्ति कविता-

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर कविता/ देशभक्ति कविता-
15 अगस्त अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर शायरी कविता/ देशभक्ति कविता-

Man jahaan ḍaar se pare hai
aur sir jahaan oonchaa hai;
gyaan jahaan muk‍t hai;
aur jahaan duniyaa ko
snkeerṇa ghareloo deevaaron se
chhoṭe chhoṭe ṭukadon men baanṭaa naheen gayaa hai;
jahaan shab‍d sach kee gaharaa_iyon se nikalate hain;
jahaan thakee huii prayaasarat baanhen
truṭi heenataa kee talaash men hain;
jahaan kaaraṇa kee s‍paṣ‍ṭ dhaaraa hai
jo sunasaan reteele mrit aadat ke
veeraane men apanaa raas‍taa kho naheen chukee hai;
jahaan man hameshaa v‍yaapak hote vichaar aur sakriyataa men
tum‍haare jarie aage chalataa hai
aur aajaadee ke s‍varg men pahunch jaataa hai
o pitaa
mere desh ko jaagrit banaa_o”
“geetaanjali”
– Rabindranath Tagore

 

The conqueror of the world, our tri-colour
Let our flag always fly high

It showers strength always
It_oozes out love nectar
It gives pride to the brave
It-is the heart and mind of Motherland
Let our flag always fly high

In the intense battle for independence
It gives josh to every moment
The enemy trembles after seeing it
(And for us) our fear and danger goes away
Let our flag-always fly high

Under this flag we are fearless
And our intention is the birth of Swaraj
Shout Jay for Bharat Mata
Now our aim is independence
Let our flag always fly high

Come, beloved braves, come
Sacrifice everything for our nation
In one voice sing together
Beloved is our nation Bharat
Let our flag-always fly high

Let its prestige never go away
Even if we give away our lives for that
Let Victory Victory be ours
Let-our pledge be realised
Let our flag always-fly high

 

हम बच्चे हँसते गाते हैं।
हम आगे बढ़ते जाते हैं।

पथ पर बिखरे कंकड़ काँटे,
हम चुन चुन दूर हटाते हैं।

आयें कितनी भी बाधाएँ,
हम कभी नही घबराते हैं।

धन दौलत से ऊपर उठ कर,
सपनों के महल बनाते हैं।

हम खुशी बाँटते दुनिया को,
हम हँसते और हँसाते हैं।

सारे जग में सबसे अच्छे,
हम भारतीय कहलाते हैं।

~Dr. Parshuram Shukla

15-अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण –

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण -
15 -गस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण –

आज 15 अगस्त, 2018. हम सभी भारतीय स्वतंत्रता के 71 वें वर्ष मना रहे हैं। भारत पहले ब्रिटिश साम्राज्य के शासन में था। ब्रिटिश भारतीयों को बहुत बुरी तरह से अत्याचार करता था। आज हमारे पास शिक्षा, परिवहन, व्यापार और हर क्षेत्र में सभी स्वतंत्रताएं हैं। लेकिन १९४७ मई ऐसा कुछ भी नहीं था, लोगों के लिए कोई स्वतंत्रता नहीं था। हमारे महान भारतीय नेताओं ने हमें ब्रिटिश शासन के खिलाफ सफलता के साथ स्वतंत्रता लाने के लिए कड़ी मेहनत की और भारत को स्वतंत्रता अर्जित की। इस दिन देश में बहुत खुशी के साथ मनाया जाता है।

इस दिन हम उन स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हैं जिनके कारण आज हमारा जीवन इतना सुंदर हो गया है। ब्रिटिश शासन के दौरान बच्चों को स्कूल जाने की इजाजत नहीं थी, कोई स्वतंत्र व्यापार की अनुमति नहीं थी। उन्होंने भारत से सब संयम ले जाते थे और ब्रिटिश बाजार मई बेचता था लेकिन भारतीयों को कोई लाभ नहीं देते थे। भारतीयों को गुलामों की तरह माना जाता था। महान स्वतंत्रता सेनानियों ‘नेताजी सुभाषचंद्र बोस, महात्मा गांधीजी, जवाहर लाल नेहरू, बाल गंगाधर तिलक, लाला लाजपथ रे, खुदीराम बसु, भगत सिंह’ सभी प्रसिद्ध देशभक्त थे जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई किये थे और भारत को आज़ाद किया थे।

आज, अगर हम GAZA का उदाहरण लेते हैं, वहां लोगों को बहुत बुरी तरह मार दिया गया है और GAZA को पूरा नष्ट कर दिया. यहां तक कि बच्चों और नए पैदा हुए बच्चे भी मानवता के बिना मारे गए हैं। १९४७ के पहले ब्रिटिश भी ऐसा करते थे हम लोगो के साथ।

लेकिन आज हम ऐसी सभी शक्तियों से स्वतंत्र हैं। आज हमारे भारत बहुत अच्छी तरह से स्थापित लोकतंत्र, न्यायपालिका है। ये सभी अभी नहीं बल्कि भारतीय सेना, नेताओं और लोगों द्वारा किए गए कड़ी मेहनत और बलिदान के माध्यम से प्राप्त किए थे। नेताओं ने अंग्रेजों के खिलाफ कई आंदोलनों का आयोजन किया और अंत में अपने लक्ष्य में सफल रहे। गांधीजी, देश के हमारे पिता महत्वपूर्ण और मुख्य नेता हैं जिन्होंने देश को अपनी अहिंसा और सहाराग्रा विधियों के माध्यम से आजादी दी। गांधी ने हमारे देश में अहिंसा, शांति के साथ एक देश का सपना देखा।

हमारा कर्तव्य भारत के विकास के लिए हमेशा काम करना है. क्युकी अज्ज हम जो इंडिया को देखते है वो सोबी महान नेताओं के बलिदान का परिणाम है। या हमारा कर्तव्य है की देश को सर्वोत्तम बनाना है और इसका विकास के लिए काम करना है।

स्वतंत्रता दिवस पर गीत-

उम्मीद है आपको या 15 अगस्त की शायरी/ स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, कविता और भाषण अच्छी लगी है. चलो हम सोबी इस आजादी की खुसियोंको दिल से जश्न मानाते है. न केवल जश्न मनाएं बल्कि अपने दोस्तों और परिवार की भी इस आनंद का विश करो. Jai Hind, Vande Mataram.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here